World Free of Nuclear Weapons & Culture of Peace
Fair Global Governance & Sustainability
Founded in February 1983

Join us in transforming the world

Sustainability Project

Shared prosperity and well-being for all by 2030 is the target the international community has set itself in the Sustainable Development Goals (SDGs) adopted on September 25, 2015 at the UN Summit in New York. This joint media project with DEVNET Japan Foundation highlights sustainability - in the fields of development, environment and food and nutrition. DEVNET was founded by Roberto Savio in 1985 as an international Association with headquarters in Rome.
www.devnet.gc-council.org

News & Analysis

Aufbau eines effizienten Asien-Netzwerks zur Katastrophenvorsorge

Von Toshiaki Kitazato*

TOKIO (IDN) – Beim großen Hanshin-Erdbeben im Januar 1995 war die Stadt Kobe mit ihren 1.5 Millionen Einwohnern am stärksten von starken Beben betroffen. Fast 6500 Menschen verloren ihr Leben.

Achtzehn Jahre später hat Japan nochmals eine große Katastrophe erlitten, sie erfolgte durch einen massiven Tsunami, der am 11. März 2013 durch das Tiefsee-Erdbeben der Erdkruste im Pazifik hervorgerufen wurde. Diese große Erdbeben-Katastrophe in Ost-Japan verursachte nicht nur 20.000 Todesopfer, sondern zerstörte auch die Kernkraftwerksgebäude in Fukushima.

Read more...

 

Development Cooperation Critical for Asia-Pacific Countries

By J Nastranis

NEW YORK (IDN) - A high-ranking United Nations official has stressed the need to translate the 2030 Agenda for Sustainable Development into national planning and budgetary processes.

This is particularly important in countries with special needs, declared the head of the United Nations Economic and Social Commission for Asia and the Pacific (ESCAP) on the sidelines of the fifth biennial high-level meeting of the Development Cooperation Forum (DCF) in New York on July 21. GERMAN | HINDI | SPANISH

Read more...

 

जापान को आतंकवाद रोकने के लिए क्राइम ऑफ कॉन्सपिरेसी की जरूरत

कत्सुई हिरासावा का नजरिया *

टोक्यो (आईडीएन) - दुनिया अब इस्लामी चरमपंथियों के आतंक से हिल गई है और जापान इस आतंकवाद से असंबद्ध नहीं है।

जापान एक द्वीप राष्ट्र है जिसकी किसी दूसरे देश के साथ सीधी सीमा नहीं है। हम पश्चिमी देशों की तरह अनेक आप्रवासियों को स्वीकार नहीं करते हैं और इसलिए एक एकीकृत राष्ट्र के रूप में अपनी मानसिक शांति के कारण हम आतंकवाद का मुकाबला करने के लिए पर्याप्त उपाय नहीं करते हैं।

यहाँ तक कि हममें से कुछ लोग विश्व के कई हिस्सों में बड़े पैमाने पर होने वाले आतंकवादी हमलों को आग के विपरीत किनारे के रूप में देखते हैं। अतीत में असामा-सान्सो को बंधक बनाये जाने का मामला और कोलिशन रेड आर्मी द्वारा जेएएल विमान अपहरण की घटना हुई है जो नाटकीय अपराध थे और टीवी पर इनकी लाइव रिपोर्टिंग की गई। ज्यादातर जापानी लोगों ने इन घटनाओं को आतंकवाद के रूप में मान्यता नहीं दी होगी।

Read more...

 

Japón necesita el “delito de conspiración” para prevenir el terrorismo

Opinión de Katsuei Hirasawa *

TOKIO (IDN) - El mundo está siendo sacudido por el terror de los extremistas islámicos y Japón no se escapa de este terrorismo.

Japón es una isla que no tiene frontera directa con otro país. No aceptamos muchos inmigrantes como en los países occidentales y, por lo tanto, no tomamos suficientes medidas contra el terrorismo debido a nuestra tranquilidad como nación unificada.

Read more...

 

Japan Needs ‘Crime of Conspiracy’ to Prevent Terrorism

Viewpoint by Katsuei Hirasawa *

TOKYO (IDN) – The world is now shaken by the terror of Islamic extremists and Japan is not unrelated to this terrorism.

Japan is an island nation that does not have a direct border with another country. We do not accept many immigrants as in Western countries and, therefore, we do not take enough counter-terrorism measures because of our peace of mind as a unified nation.

Some of us even regard large-scale terrorist attacks in many parts of the world as the opposite bank of the fire. In the past, the Asama-Sansō hostage-taking case and JAL plane hijacking by the Coalition Red Army occurred, which were theatrical crimes and were reported live on TV. Most Japanese people may have not recognised them as terrorism. SPANISH | GERMAN | HINDI | JAPANESE

Read more...

 

जापानियों का दिल

लेखक कत्सुई हिरासावा*

टोक्यो (आईडीएन) - जब जापान और चीन में जनमत सर्वेक्षण किया जाता है तो लगभग 90 प्रतिशत जापानी यह जवाब देते हैं कि वे चीन को नापसंद करते हैं और लगभग 80 प्रतिशत चीनियों का जवाब होता है कि वे जापान को नापसंद करते हैं। ये वर्णन से परे निराशाजनक आंकड़े हैं लेकिन शायद इनकी जड़ें ऐतिहासिक मान्यता में समायी हुई हैं। हालांकि जब चीनी लोग जापान जाते हैं तो वे जापानियों की अत्यंत दयालुता से काफी हैरान होते हैं।

जब चीन के जापानी दूतावास में एक सहचारी चीन में कोई व्याख्यान देता है तो चीनी लोग अक्सर पूछते हैं: "क्यों जापानी चीनियों के प्रति उदार होते हैं जबकि आप चीन को नापसंद करते हैं?" जवाब स्पष्ट है। चीन में मानव अधिकारों की स्थिति और चीनी सरकार के प्रभाव को लेकर जापानियों में काफी अविश्वास है।

Read more...

 

El gran corazón de los japoneses

 Por Katsuei Hirasawa*

TOKIO (IDN) – Cuando realizan encuestas de opinión pública en Japón y China, alrededor del 90 por ciento de los japoneses responden que no les gusta China y alrededor del 80 por ciento de los chinos responden que no les gusta Japón. Estas son cifras indescriptiblemente tristes, pero probablemente tienen sus raíces en el reconocimiento histórico. Sin embargo, cuando visitan Japón, los chinos se sorprenden mucho por la extrema amabilidad de los japoneses.

Read more...

 

Construyendo una red asiática eficiente para la reducción del riesgo de desastres

Por Toshiaki Kitazato*

TOKIO (IDN) - Durante el gran terremoto de Hanshin de enero de 1995, la ciudad de Kobe, con una población de 1,5 millones, fue la zona más afectada por los fuertes temblores. Cerca de 6500 personas perdieron la vida.

Dieciocho años más tarde, Japón volvió a sufrir un gran desastre, seguido por el enorme tsunami causado por el terremoto en las cortezas de las aguas profundas del Océano Pacífico el 11 de marzo de 2013. El desastre del gran terremoto del Japón oriental no solo causó más de 20 000 víctimas mortales, sino que también destruyó los edificios de la planta de energía nuclear de Fukushima.

Read more...

 

आपदा जोखिम को कम करने के लिए कुशल एशियाई नेटवर्क का निर्माण

लेखक तोशियाकी किताजातो*

टोक्यो (आईडीएन) - जनवरी 1995 में हैनशिन के भयानक भूकंप ने कोबे शहर को - जिसकी आबादी 15 लाख (1.5 मिलियन) है - तीव्र झटकों से बुरी तरह झकझोर दिया था। इस आपदा में लगभग 6,500 लोगों की जानें चली गईं थीं।

अठारह साल बाद 11 मार्च, 2013 को जापान को एक बार फिर से एक भीषण आपदा का सामना करना पड़ा जब प्रशांत महासागर में गहरे समुद्र की परतों में भूकंप की वजह से भयंकर सूनामी आ गयी। पूर्वी जापान में भयंकर भूकंप की आपदा से न केवल 20,000 से अधिक लोगों की मौत हो गई बल्कि इसने फुकुशिमा में परमाणु ऊर्जा संयंत्र की इमारतों को भी नष्ट कर दिया।

Read more...

 

छः मेकांग देशों ने रीजनल ड्रग स्ट्रेटजी को मजबूती प्रदान की

लेखक जे. नेस्ट्रेनिस

न्यूयार्क (आईडीएन) - औषध नियंत्रण पर मेकांग समझौता ज्ञापन (एमओयू), एक ऐसा फ्रेमवर्क जिसमें पूर्व और दक्षिण-पूर्व एशिया के छः देशों में कानून प्रवर्तन, आपराधिक न्याय, वैकल्पिक विकास और स्वास्थ्य प्रतिक्रियाओं को शामिल किया गया है, इस पर हस्ताक्षर होने के पच्चीस वर्ष से अधिक समय बाद भी काफी महत्वपूर्ण बना हुआ है।

काफी प्रयासों के बावजूद एमओयू करने वाले छः देश - कंबोडिया, चीन, लाओ पीडीआर, म्यांमार, थाईलैंड और वियतनाम - जिनसे मिलकर ग्रेटर मेकांग उप-क्षेत्र बनता है, अवैध दवाओं और प्रीकर्सर रसायनों के प्रवाह को क्षेत्र में, क्षेत्र से और क्षेत्र तक फैलने से रोकने में निरंतर चुनौतियों का सामना कर रहे हैं।

Read more...

 

GLOBAL CITIZENSHIP Lecture Series

Partners

IPPNW
 
Fostering Globalcitizenship
 
Nuclearabolition
 
International Press Syndicate
 
InDepthNews
 
Soka Gakkai International (SGI)
 
ICAN | International Campaign to Abolish Nuclear Weapons
 
財団法人 尾崎行雄記念財団
 
IPPNW

Paypal-Donate

Help us provide you insight into Global Governance and Culture of Peace issues.